This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website. Learn more

COVID-19 के संक्रमण के बाद स्वस्थ्य हुए मरीज़ों के लिए Health Ministry की Guidelines | Consumer Adda

x

COVID-19 के संक्रमण के बाद स्वस्थ्य हुए मरीज़ों के लिए Health Ministry की Guidelines | Consumer Adda

COVID-19 के संक्रमण होने के बाद ठीक हुए लोगो को दूसरी गंभीर बीमारियां घेर रही है, ऐसे में Health Ministry की तरफ से कोरोना के बाद स्वस्थ हुए मरीज़ों के लिए guideline जारी की है. जानिए क्या है यह प्रोटोकॉल और आपको रखना है किन बातों का ख्याल Consumer Adda में

#CNBCAwaazLive #CoronavirusIndia #ConsumerAdda

Catch All The Latest Updates In The Market LIVE Only On CNBC AWAAZ

CNBC Awaaz is India’s number one business channel and an undisputed leader in business news and information for the last 14 years. Our channel aims to educate, inform and inspire consumers to go beyond limitations, with practical tips on personal finance, investing, technology, consumer goods and capital markets. Policymakers and business owners alike have grown to trust CNBC Awaaz as the most reliable source with its eye on India’s business climate. Our programming gives consumers a platform to make decisions with confidence.

For latest news and updates, Visit Our Website:

Subscribe to the CNBC Awaaz YouTube channel here:


Follow CNBC Awaaz on Twitter:
Like us on our CNBC Awaaz Facebook page:
x

COVID-19 (novel coronavirus) update – 24 February, 2021 1pm | Ministry of Health NZ

COVID-19 media update

COVID-19 1pm media update, 24th February 2021
The Minister for COVID-19 Response, Chris Hipkins and Director-General of Health Dr Ashley Bloomfield will provide an update on COVID-19 at 1pm today.
--------------------------------------------------------------------------------
For the latest information on COVID-19 please visit the Ministry of Health website -

Follow us on Facebook - and on Twitter -
x

Covid-19 News | पोस्ट कोविड : रीढ़ की हड्डी में संक्रमण

Covid-19 News: महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोविड से ठीक होने के बाद की कई तकलीफ़ों में एक नयी तकलीफ़ देखी जा रही है ‘रीढ़ की हड्डी में संक्रमण’ की. इम्यूनिटी कम वाले बुज़ुर्ग कोविड मरीज़ों के शरीर में पस बनने के मामले रिपोर्ट हो रहे हैं. कोरोना से ठीक होने के बाद बुज़ुर्ग मरीज़ों की रीढ़ की हड्डी में संक्रमण या पस भरने के मामले एक नई चिंता पैदा कर रहे हैं.


NDTV India is a 24-hour Hindi news channel. NDTV India established its image as one of India's leading credible news channels, and is a preferred channel by an audience which favours high quality programming and news, rather than sensational infotainment.

NDTV India's popular shows revolve around: news, politics, economy, sports, panel discussions with eminent personalities and noteworthy commentaries.

NDTV इंडिया भारत का सबसे निष्पक्ष और विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ चैनल है. NDTV इंडिया पर आप पॉलिटिक्स, बिजनेस, स्पोर्ट्स और बॉलीवुड से जुड़ी ताज़ा ख़बरें देख सकते हैं. सबसे निष्पक्ष और विश्वसनीय लाइव ख़बरों के लिए हमारे साथ बने रहें.

देखें NDTV इंडिया लाइव, फ़्री डिश पर चैनल नं 49

चैनल सब्सक्राइब करें :
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :
हमें ट्विटर पर फॉलो करें :
NDTV Apps डाउनलोड करें :
अन्य वीडियो देखें :
हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करें :

फ़ूड वीडियो के लिए NDTV ज़ायका सब्सक्राइब करें :


हेल्थ वीडियो के लिए NDTV सेहत वेहत सब्सक्राइब करें :
x

Post COVID-19 Symptoms in Hindi || Coronavirus ke Long Term Effects || Practo

Post Corona effects on Body, COVID-19 se theek hone ke baad kya hota hai? What are Coronavirus Long Term Effects? Kya COVID-19 hone ke baad koi symptoms hote hain (post Coronavirus symptoms)? What is post COVID-19 syndrome? Are there any post Coronavirus effects on the body? Dr Sharad Joshi, a Pulmonologist with over 19 years of experience, explains कोविड-19 से ठीक होने के बाद क्या सावधानी बरतनी चाहिए, long-term effects of COVID-19, and problems after Covid-19 recovery.

Video Breakdown:

0:27 कोविड-19 से ठीक होने के बाद क्या सावधानी बरतें?

0:43 कौन से लक्षण लम्बे समय तक चलते हैं ? Coronavirus ke Long Term Effects

Subscribe to our channel for more videos:

Visit our website:
For video consultations with top doctors, visit:
Connect with us:

Facebook:
Twitter:
Instagram:
LinkedIn:

#postcoronarecovery #coronakebaad #postcoronasymptoms

Video Transcript:
एक नया शब्द तैयार किया गया है –पोस्ट कोविड सिन्ड्रोम। परेशानी यह है कि कोविड या कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद मरीज़ में सामान्य लक्षण होते हैं।
धीरे धीरे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता उस वायरस का सामना कर लेती है।
दवाइयों की मदद से मरीज़ की हालत ठीक हो जाती है। लेकिन कुछ लक्षण हैं, जो कई दिनों तक कायम रहते हैं और इनमें से एक जो बहुत ही तकलीफदेह है, वह है कमज़ोरी।
मरीज़ की माँसपेशियों में दर्द रहता है, शरीर में बहुत कमज़ोरी महसूस होती है। जिन मरीज़ों को वास्तव में बहुत गंभीर कोविड होता है, या फेफड़ों में बहुत ज़्यादा निमोनिया या एआर डी एस की तकलीफ़ होती है, ऐसे मरीज़ जब ठीक हो जाते हैं तो दो से तीन महीनों तक उनकी साँस भी फूल
सकती है।
इनमें से एक या दो फीसदी मरीज़ ऐसे भी होते हैं जिन्हें साँस की तकलीफ़ के लिए कई सालों तक लंबा इलाज कराना पड़ सकता है।
तो ऐसे मरीज़ जो कोविड से संक्रमित होने के बाद ठीक हो चुके हैं वे सावधान रहें, खान-पान का ध्यान रखें, यह सोचते हुए कि अब कोरोना से ठीक हो चुके हैं, लापरवाही ना बरतें। दरअसल उनका शरीर कमज़ोर हो गया है और किसी भी प्रकार के संक्रमण से लड़ने की स्थिति में नहीं है।
इसलिए उन्हें सभी सावधानियाँ वर्तनी हैं और लापरवाह नहीं होना है।

A new word has been coined- Post-COVID Syndrome. The problem is patients have routine symptoms after being infected with COVID-19 or
Coronavirus. The body’s immunity takes care of the virus and with the help of medicines, the patient recovers completely.

But there are a few symptoms that persist for a very long time. Weakness is one such symptom which is the most troublesome.

One experiences pain in the muscles and extreme weakness. Patients who suffer from severe COVID-19, excessive pneumonia in the lungs or ARDS, may face problems of breathlessness for 2-3 months after they recover.
Amongst these, there could be one or two percent of such patients who may require long term treatment for their breathing problems.

Patients who have recovered from COVID-19 need to take necessary precautions, eat-drink carefully and avoid being careless. As a matter of fact, their bodies have become weak and are not strong enough to fight other infections. That is why they have to take every precaution and not be irresponsible.
x

Corona diet - संक्रमण से बचने के लिए क्या क्या खाना चाहिए?

In this video, Chhavi Kohli (senior diabetes educator & nutritionist) tells what to eat to boost your immune system during the COVID19 pandemic. इस वीडियो में जानिये Coronavirus (COVID-19) में क्या क्या खाना चाहिए? Immunity power कैसे बढ़ाये? #coronadiet

Coronavirus के लिए सही diet क्या है? क्या खाने से immunity power बढ़ता है? जानिये Coronavirus में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं । Corona virus के संक्रमण से बचने के लिए क्या क्या खाना चाहिए?

#immunitypower #immunitybooster #immunityboostingfoods
Know more about COVID-19


Subscribe to our channel for more videos and get an answer to your queries:

Connect with us on:-

To consult a specialist doctor
Facebook:
Visit our website at

होम क्वारंटाइन: घर पर कोरोना मरीज़ों की कैसे करें देखभाल? || Home Isolation tips in Hindi || Practo

कोविड-19 के लक्षण kya hote hain? COVID-19 se bachne ke liye इम्यूनिटी कैसे बढ़ाएं? होम आइसोलेशन क्या होता है ? कम लक्षण वाले कोरोना मरीज़ ka होम आइसोलेशन kaise karein? बिना लक्षण वाले कोरोना मरीज ka होम आइसोलेशन kaise karein? होम आइसोलेशन के नियम kya hain? Dr Jeenam Shah, a Pulmonologist with over 9 years of experience, explains how to deal with Covid-19 at home and manage preventative home isolation for coronavirus patients. He talks about the best immunity boosters for Coronavirus, nutrition for Corona patients, the isolation procedure for Corona patients, medical equipment required at home, medications to keep at home, when to use cotton masks, normal and low oxygen levels in Corona patients, and how to read pulse oximeter readings. He also shares a few tips to cope a

Video Breakdown:

0:32- कोविड-19 के लक्षण ? Symptomatology of COVID-19

1:19 - इम्यूनिटी कैसे बढ़ाएं? Boost Immunity

1:32 - पोषण | Nutrition

1:49 - क्रॉस इन्फेक्शन को कैसे रोकें? Preventing cross-infection

2:21 - डॉक्टर से सलाह लें | Consulting a doctor

2: 48 - घर पर निगरानी की ज़रूरतें | Requirements for home monitoring

3:36 - हिम्मत बनाए रखें | Keeping spirits high

Subscribe to our channel for more videos:

Visit our website:
For video consultations with top doctors, visit:
Connect with us:

Facebook:
Twitter:
Instagram:
LinkedIn:

Video Transcript:
हर घर को तीन हिस्से मे बाटना चाहिए
पहला हिस्सा है आइसोलेशन रूम जिसके अंदरव्यक्ति जिसको लक्षण है उनको
रखा जाए
दूसरा रूम हैं सेपेरेशन रूम जिसके अंदर जिस व्यक्ति को कोई लक्षण नहीं हैं
उनको रखा जाए
और तीसरा पॉइंट है क्वारंटाइन रूम जिनके अंदर लक्षण थे पहले लेकिन अभी
लक्षण नहीं हैं वैसे व्यक्ति को रखा जाए
ये वायरस काफी अप्रत्याशित हैं.... इसके लक्षण, लक्षण की गंभीरता ओर लक्षण
के आने के दिन काफी अलग अलग होते हैं | इसके लक्षण होते है खाँसी, सर्दी,
बुखार, गंध और स्वाद की कमी.... उसके अलावा सांस फूलना छाती मे दर्द होना
ये कुछ भी हो सकता हैं| किसी-किसी को कुछ भी नहीं होता है, किसी-किसी को
चार पाँच लक्षण एक साथ होते हैं
इसके अलावा इसकी गंभीरता भी बहुत अलग –अलग होती हैं l
किसी को asymtomic मतलब कुछ भी नहीं होता है| उसके अलावा किसी को
सांस फूलना, वेंटीलेटर लगना, ऑक्सीजन लगना इतना तक हो सकता है | इसकी
शुरुआत भी काफी अलग अलग होती है, किस किसी को एक दो दिन मे प्रॉब्लम
शुरू होती हैं , किसकी को हफ्ता लगता है किसी को दो हफ्ते के बाद भी
प्रॉब्लम होती है

हमको कैसे इम्युनिटी को बढाया जाए उसके लिए योग करना चाहिए,
एक्ससरसीसेस करनी चाहिए मैडिटेशन करना चाहिए जिससे माइंड फ्रेश रहे और

उसके अलावा धूप मे जाना चाहिए जहाँ भी विंडो है, जिससे विटामिन डी अपनी
बॉडी में बने | जिम्मेदारियों को बांटो और समय को खरीदो

कोई भी बिमारी को लड़ने की क्षमता अपने पौष्टिक खाने से आती है| फ्रूट्स और
पानी का सेवन अच्छे से करिए जिससे आपकी बॉडी में हाइड्रेशन अच्छे से रहे
और बीमारी को लड़ने की क्षमता मिले

ये स्वाभाविक है क्योकि हम एक दुसरे की देखभाल करने वाले है तो चांसेस है
की एक के बाद एक आदमी बीमार पड़ता जायेगा.... तो सबसे बड़ा संघर्ष ये
होता है की कैसे इसको रोका जाए, इसके लिए काफी चीज़ें करनी पड़ती है...
आप सबके लिए जिम्मेदारियों को पक्का रखना पड़ता है, बांटना पड़ेगा.... उसके
लिए आप विडियो कांफ्रेंसिंग करो व्हाट्सप्प का ग्रुप बनाओ| किसकी क्या
ज़िम्मेदारी है सबको देनी चाहिए... सबसे छोटे से छोटे, सबसे बुजुर्ग से बुजुर्ग
सदस्य को, एक साथ सबका काम पता होना चाहिए |

तीसरा जरूरी पॉइंट है की डॉक्टर का सहयोग हो.... बीमार होने से पहले ही
आपको मन में ये सोच लेना चाहिए कि आप कौनसे डॉक्टर को राय लेने वाले
हो... वो डॉक्टर आपका कोई फैमिली डॉक्टर हो सकता है या फिर आपका कोई
दोस्त हो सकता हैं या फिर आपका कोई फैमिली मेम्बर भी हो सकता हैं | याद
रखे जो डॉक्टर को सेलेक्ट कीजिये आप, वो जानकार होना चाहिए कोविद के
बारे में उसको सब लेटेस्ट क्या चल रहा हैं कोविद के बारे में वो भी पता होना
चहिये

घर पे क्या क्या साधन होने चाहिए, जैसे कि मास्क होने चाहिए, हर आदमी को
घर पे कॉटन मास्क पहनना चाहिये सिर्फ जो आदमी पीड़ित आदमी के रूम मे

जाता हैं उसको N-95 मास्क पहनना हैं, उसके अलावा सब कॉटन मास्क पहनेगे
तो बहुत हैं | इसके अलावा पल्स ओक्सिमीटर होना चाहिये जिससे हम आदमी
क ऑक्सीजन लेवल चेक करे, नॉर्मली अगर ऑक्सीजन लेवल 90 के ऊपर है तो
आदमी को घर पे मैनेज कर सकते है.... अगर 90 के नीचे जाता है तो हॉस्पिटल
मे एडमिट होने की जरूरत हैं| उसके अलावा थर्मामीटर होना चाहिए जिससे हम
आदमी क टेम्परेचर रेगुलरली चेक कर सके और बीपी मशीन होना चाहिए
जिससे बीपी भी चेक कर पाए |
और गर्म पानी कभी गला खराब है तो गरम पानी का गरारा भी कर सकते है

सबसे ज़रूरी पॉइंट है के अपने मानसिक स्वस्तय को बनाये रखें
कोविद मे जो फिजिकल डिस्टन्सिंग होता है, आइसोलेशन होता है वो परिवार के
लिए भावनात्मक रूप से चुनौतीपूर्ण रहता है इसके लिए कुछ चीज़े है जो मैं
आपको टिप्स देता हूँ | इसके लिए क्या कर सकते हो कि व्हाट्सप्प क ग्रुप
बनाइये | लगातार विडियो चैटिंग कीजिये अपने फ्रेंड्स के साथ, फैमिली के साथ|
इससे क्या रहता है कि आपको अच्छा लगता हैं| आपको जो भी चिंता सता रही
है, वो आप सबके साथ बैठ के चर्चा करिए इससे आपका मन हल्का होगा और
जो भी सलूशन लाना हैं वो आप ला सकते हो और फॅमिली को एक साथ जुट
रखना पड़ेगा|

डॉ. सुशीला कटारिया | होम आइसोलेशन: घर पर कोरोना मरीज की कैसे करें देखभाल?

बिना लक्षण या कम लक्षणों वाले मरीज होम आइसोलेशन में ठीक हो जाते हैं, घर में कोरोना मरीज हो तो किन चीजों का खास ख्याल रखना चाहिए यहां हम आपको बता रहे हैं।

इस वीडियो में जानिए कि जब घर पर कोरोना मरीज हो तो उन्हें और उनके परिवार को किन बातों का ख्याल रखना है -
- अपनी नियमित दिनचर्या बनाये रखें
- संतुलित आहार अति आवशयक है
- समय समय पर गुनगुना पानी, सूप हल्दी-दूध लेते रहें
- नमकीन पानी या बीटाडीन के गरारे दिन में ३ बार करें
- स्वयं में सकारात्मक विचार रखें

Chetavni ke lakshan-
•Teen din tak lagatar 101F se zyada temperature hona
• Systolic blood pressure ka 80mmhg se kam hona
• Respiratory rate 25 ke upar hona
• Oxygen saturation 95% ke niche hona
• Gambhir pet dard aur khansi mein rakt
• Theek se khana nahi kha pana

Medanta कोविड होम केयर के बारे में जानने के लिए, +91 124 4834566 पर संपर्क करें |

Ayushman Bhava: कोविड-19 और हृदय रोग | COVID-19 and Heart Disease

देश-दुनिया में लाखों लोग कोरोना की चपेट में हैं। शुरूआत में अनुमान यह लगाया जा रहा था कि कोरोना का असर सिर्फ मरीज के श्वचसन तंत्र और फेफड़ों को ही प्रभावित करता है लेकिन धीरे यह बात सामने आई है कि इसका असर शरीर के बाकी अंगों पर भी पड़ रहा है। हृदय यानि हमारे दिल पर भी कोविड 19 का प्रभाव देखा जा रहा है। कोविड-19, सिर्फ संक्रमित मरीज के ही नहीं बल्कि बीमारी से रिकवर हो चुके मरीजों के हृदय को भी गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त कर सकता है। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि मरीज को कोविड-19 का गंभीर इंफेक्शन हुआ था या फिर हल्के लक्षणों वाला इंफेक्शन।

Corona मरीजों के लिए Health Ministry ने जारी किया Protocol, योग करने और च्‍यवनप्राश खाने की दी सलाह

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना मरीजों और कोरोना से ठीक हो चुके बाकी लोगों के लिए प्रोटोकॉल सलाह जारी की है, संक्रमण की भयावह स्थिति को देखते हुए इस प्रोटोकॉल के तहत योगासन से लेकर काढ़ा पीने और च्‍यवनप्राश खाने तक की सलाह दी गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना से ठीक होने के बाद फिर से कोरोना की चपेट में आने से बचने के लिए मरीज़ों के लिए इसे जारी किया है
#CoronavirusInIndia #UnionHealthMinistry #UseOfChyawanprash Watch LiveTV |
Subscribe to TV9 Bharatvarsh
Follow TV9 Bharatvarsh on Facebook |
Follow TV9 Bharatvarsh on Twitter |
Watch more TV9 Bharatvarsh Videos |
Know All About Political News |
Know All About Trending News|
Know All about business news |
Know All about Latest Bollywood News|
#TV9Bharatvarsh #HindiNewsLive

COVID-19 (novel coronavirus) update – 23 February, 2021 1pm | Ministry of Health NZ

COVID-19 media update

COVID-19 1pm media update, 23rd February 2021
The Minister for COVID-19 Response, Chris Hipkins and Director-General of Health Dr Ashley Bloomfield will provide an update on COVID-19 at 1pm today.
--------------------------------------------------------------------------------
For the latest information on COVID-19 please visit the Ministry of Health website -

Follow us on Facebook - and on Twitter -
x

Coronavirus India Update: Health Ministry ने जारी की ये नई Guidelines । वनइंडिया हिंदी

As the festive season is just around the corner, the central government on Tuesday (October 6, 2020) issued several important guidelines to contain the spread of COVID-19 during festivities. The government has released these guidelines because the coming months will witness festivals. These events usually last a day or a week or more. To prevent the spread of COVID-19 infection, it is important that necessary preventive measures are followed for such events, said Ministry of Health and Family Welfare.

देश में कोरोनावायरस के रोजाना हजारों नए मामले सामने आ रहे हैं। सरकार की तरफ से महामारी पर काबू पाने के लिए एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं और लोगों को भी जागरूक किया जा रहा है। अक्टूबर से दिसंबर तक का समय त्योहारों का है। नवरात्रि, दुर्गापूजा, दशहरा, दिवाली समेत कई बड़े त्योहार आने वाले है। लेकिन इस सीजन में कोरोना के फैलने का भी उतना ही खतरा है। त्योहारों के दौरान कोरोना के खतरे को देखते हुए हेल्थ मिनिस्ट्री ने नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

#Coronavirus #guidelines #healthministry
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Subscribe to OneIndia Hindi Channel for latest updates on movies and related videos.

You Tube:

Follow us on Twitter :

Like us on Facebook :

Download App:

Coronavirus India Update: Covid-19 से ठीक होने के बाद भी क्यों रह जाते हैं इसके लक्षण? (BBC Hindi)

क्या कोरोना से ठीक होने के बाद लोग पूरी तरह तंदरुस्त हो जाते हैं या संक्रमण उनके शरीरों में कुछ परेशानियां छोड़ जाता है? इस पर शोध कर रहे वैज्ञानिक वही बातें कह रहे हैं, जो मरीज़ों के अपने अनुभव हैं.

#CoronaVirus #Covid19 #CoronaPandemic

Corona Virus से जुड़े और दिलचस्प वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें :

कोरोना वायरस से जुड़ी सारी प्रामाणिक ख़बरें पढ़ने के लिए क्लिक करें :

ऐसे ही और दिलचस्प वीडियो देखने के लिए चैनल सब्सक्राइब ज़रूर करें-


बीबीसी हिंदी से आप इन सोशल मीडिया चैनल्स पर भी जुड़ सकते हैं-

फ़ेसबुक-
ट्विटर-
इंस्टाग्राम-

बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें-

Coronavirus India Update: कोरोनावायरस केस 60 लाख के पार, 24 घंटे में आए COVID-19 के 82,170 नए केस

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे है, भारत में COVID-19 संक्रमितों की संख्या 60 लाख के पार पहुंच गई है. कोरोना संक्रमण के 60 लाख मामले रिपोर्ट करने वाला दुनिया का दूसरा देश भारत बन गया है. अमेरिका पहला देश है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के 82,170 मामले सामने आए है. इसी के साथ कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 60,74,702 हो गई है. वहीं, पिछले 24 घंटों में 1,039 लोगों की कोरोना वायरस से मौत गई है. COVID-19 से मरने वालो की संख्या बढ़कर 95542 पहुंच गई है, हालांकि, राहत की बात यह है कि देश में 50 लाख से ज्यादा लोग कोरोनावायरस को मात देने में कामयाब हुए हैं. अब तक कुल 5,01,6521 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. फिलहाल देश में कोरोना वायरस के 9,62,640 एक्टिव मामले हैं। वही इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में COVID-19 के लिए 27 सितंबर तक 7,19,67,230 नमूनों का परीक्षण किया गया। इनमें से 7,09,394 नमूनों का कल परीक्षण किया गया.

#CoronavirusIndiaUpdate #DainikJagran #LatestNews

**********
For more videos visit
**********

Follow us for Breaking News, Sports Coverage, Entertainment, Bollywood, Tech, Auto & more!
Subscribe to Dainik Jagran | Click Here ►
Download the official Dainik Jagran mobile app:

Subscribe now to our network channels:

- Jagran Josh:
- iNextLive:
- HerZindagi:
- OnlyMyHealth:
- Jagran HiTech:

Follow Us On:
- Facebook:
- Twitter:

Visit our website -

कोविड-19 मरीजों में दुष्प्रभाव | अपोलो कोविड रिकवर क्लिनिक | ReCOVer Clinic

कोविड-19 से ठीक होने के बाद भी मरीजों में काफी दुष्प्रभाव देखने मिल रहे हैं जिनमें शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य में भी असर पड़ता है मुख्यता थकावट, छाती में दर्द, नींद ना आना, बेचैनी, घबराहट व पोस्ट ट्रॉमाटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर (PTSD) पाए जा रहे हैं

डॉ श्रुति सिन्हा (कंसलटेंट - साइकेट्रिस्ट, अपोलो हॉस्पिटल लखनऊ) हमें बता रही है कि कैसे इन दुष्प्रभावों को दूर किया जा सकता है

अपॉइंटमेंट हेतु
डॉ श्रुति सिन्हा -
अधिक जानकारी / फोन द्वारा अपॉइंटमेंट - 84290 21619

#reCOVerClinic #COVID19 #rehabilitation #psychiatry #exercise #mentalhealth #breathlessness #ptsd #jointpain #musclepain #chestpain #ApolloHospitals #ApolloLucknow #Apollomedics #health #healthcare

Corona Recovery: पूरी तरह ठीक नहीं हुए 90% मरीजों के फेफड़े, जिंदा है कोरोना'

पूरी दुनिया इन दिनों कोरोना महामारी से परेशान है.... इस वायरस के आने के बाद से इस पर हो रहे रिसर्च में नए-नए खुलासे हो रहे हैं.... जी हां... इससे जुड़ा एक और खुलासा हुआ हैं..... कोरोना से ठीक हुए मरीजों के लिए यह खुलासा चिंता भरा हो सकता हैं.... कोरोना का केंद्र रहे चीन में कोरोना के इलाज से ठीक हो चुके मरीजों पर की गई एक रिसर्च में यह खुलासा हुआ है.... इस रिसर्च रिपोर्ट में कहा गया है कि.... कोरोना संक्रमित 90 प्रतिशत मरीजों के फेफड़े पूरी तरह से ठीक नहीं हुए है..... उन्हें अभी भी अलग से ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है...... तो आइए जानते इस रिपोर्ट में चीन में कोरोना से ठीक हो चके लोगों पर हुए इस रिसर्च के बारे में.....

#CoronaUpdate #Covid19India #CoronaRecovery
Watch More Videos:
मरीजों के इलाज पर आमने-सामने Delhi LG और Kejriwal, दिल्ली में सबका होगा इलाज:
China को लेकर मुशायरा अंदाज़ में आमने-सामने Rahul Gandhi और Rajnath Singh:
Latest News - Indian Express:

Subscribe to Jansatta:

Jansatta is a leading Hindi news channel belonging to the Indian Express Group. Jansatta covers all the latest Hindi news of India including Indian political news, election news, Tech updates, sports news and all breaking news.
जनसत्ता हिंदी न्यूज़ चैनल है जो आपके लिए लाता है देश दुनिया की सभी बड़ी खबरें साथ ही आप सियासी किस्से से भी रूबरू हो सकते हैं। घुमक्कड़, रिपोर्टर डायरी में हम आपको देश-दुनिया के उन स्थान-हिस्सों से अवगत कराएंगे जहां आप जाने की चाहत रखते हों।

Connect with us:
Facebook:
Twitter:
Website:
x

Corona के बढ़ते मामलों के बीच Health Ministry ने जारी की New Guidelines, Chyawanprash लेने की सलाह

देश में Corona के मामलों में तेजी से उछाल आया है। कोरोना के मामले दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में Health Ministry ने इसे लेकर नई Guidelines जारी की हैं। इसमें च्यवनप्राश खाने और योग करने की सलाह दी गई है।
#CoronaInIndia #COVID19 #CoronaUpdate

देश और दुनिया की हर हलचल पर पैनी नजर। हमारी वेबसाइट पर जाने के लिए क्लिक करें-
चैनल सब्सक्राइब करें-
फेसबुक पेज लाइक करें-
ट्विटर पर फॉलो करें-

अमर उजाला का एप डाउनलोड करें-

ENGLAND के वैज्ञानिकों का खुलासा... CORONA से ठीक होने के बाद बढ़ जाता है अन्य बीमारियों का खतरा!

#England #Scientist #Covid19 #AfterRecovery #PrecautionAfterCorona #DiseaseRecovery

To Subscribe on Youtube: 



Follow us on Twitter :


Like us on FB:
 

COVID से ठीक होने के बाद मरीजों को थकान और दूसरी दिक्कतें भी | Coronavirus: Myths vs Facts

COVID-19 News: जो लोग कोरोनावायरस (Coronavirus) से ठीक हो रहे हैं वो थकान और सांस लेने में तकलीफ की शिकायतों के साथ डॉक्टर के पास वापस आ रहे हैं. दिल्ली में तो इसके लिए एक सेंटर भी बनाया गया है ताकि कोविड से सही तरीके से मरीज रिकवर कर सके. देखा जा रहा है कि लोग वापस आ रहे हैं तो बदन दर्द और थकान की शिकायत कर रहे हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ भी ऐसा ही हुआ, उनका कोरोना टेस्ट नेगिटिव आया और वो घर चले गए. लेकिन कुछ दिन बाद ही उन्हें थकान और बदन दर्द की शिकायत के चलते एम्स में भर्ती कराया गया.

NDTV India is a 24-hour Hindi news channel. NDTV India established its image as one of India's leading credible news channels, and is a preferred channel by an audience which favours high quality programming and news, rather than sensational infotainment.

NDTV India's popular shows revolve around: news, politics, economy, sports, panel discussions with eminent personalities and noteworthy commentaries.

NDTV इंडिया भारत का सबसे निष्पक्ष और विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ चैनल है. NDTV इंडिया पर आप पॉलिटिक्स, बिजनेस, स्पोर्ट्स और बॉलीवुड से जुड़ी ताज़ा ख़बरें देख सकते हैं. सबसे निष्पक्ष और विश्वसनीय लाइव ख़बरों के लिए हमारे साथ बने रहें.

देखें NDTV इंडिया लाइव, फ़्री डिश पर चैनल नं 49

चैनल सब्सक्राइब करें :
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :
हमें ट्विटर पर फॉलो करें :
NDTV Apps डाउनलोड करें :
अन्य वीडियो देखें :

Post Covid Syndrome (कोरोना के बाद दुष्परिणाम) Know By Dr. Snadeep Bhasin | Care Well Medical Centre

आज डॉ संदीप भसीन को कोरोना की इस सीरीज में बताने जा रहे है कि कोरोना के बाद होने वाले दुष्परिणाम कैसे और क्या होते है जिसे पोस्ट COVID सिंड्रोम के नाम से भी जाना जाता है। हम आपको अपनी इस वीडियो में ये भी बताएंगे कि कैसे आप कोरोना के ठीक होने के बाद भी होने वाले दुष्परिणामों से बच सकते है इसका क्या इलाज होता है? इसलिए दोस्तों ये एक बहुत कि महत्वपूर्ण जानकारी है पूरी जानकारी के लिए इस वीडियो को अंत तक देखना न भूले।

Today, Dr. Sandeep Bhasin is going to tell in this corona series how and what are the side effects after corona? which is also known as Post Covid Syndrome. We will also tell you in this video that how you can avoid the side effects of the corona even after it is cured. So friends, this is a very important information, do not forget to watch this video till the end for complete information. For more information click here:

Address: Contact Here,
________________________
Care Well Medical Centre
House no 1, Nri Complex
Chitranjan Park
New Delhi 110019
Call us: (+91) 9311444806, 9818778083
Email: info@carewellmedicalcentre.in

Follow Me:
------------------
Follow on Facebook:
Follow on Twitter:
Follow on Instagram:
Follow on Youtube:

Thanks & Regards
Dr.Sandeep Bhasin
Sr. Cosmetic Surgeon

Post Covid Health Problems: कोरोनावायरस ठीक होने के बाद भी क्यों परेशान हो रहे मरीज? Coronavirus

Post Covid Health Problems: कोरोनावायरस ठीक होने के बाद भी क्यों परेशान हो रहे मरीज? Coronavirus

कोविड-19 से ठीक हो चुके मरीजों की परेशानी खत्‍म नहीं हो रही। ICU में और वेंटिलेटर्स पर कई दिन गुजारने और डिस्‍चार्ज किए जाने के बावजूद दिक्‍कत फिर हो जा रही है। अस्‍पतालों में यही ट्रेंड देखने को मिल रहा है। कोरोना का मरीज ठीक होता है, उसे वायरस मुक्‍त घोषित करके डिस्‍चार्ज कर देते हैं। मगर कुछ दिनों या हफ्तों बाद उन्‍हें कोरोना वायरस से जुड़ी कोई और परेशानी घेर लेती है। थकान से लेकर सांस लेने में दिक्‍कत आम लक्षण हैं मगर कुछ केसेज में फेफड़ों में परेशानी के साथ खून के थक्‍के बनना और स्‍ट्रोक तक देखने को मिल रहे हैं। आखिर ऐसा क्यों हो रहा है और ऐसा होने पर मरीज को क्या करना चाहिए, इस बारे में नवभारत टाइम्स ऑनलाइन ने मशहूर कैंसर सर्जन अंशुमान कुमार से विस्तार से बातचीत की है। देखिए और समझिए।

#Coronavirus #PostCovidHealthProblems #NBT
About Channel:
खबरों के अलावा कई मुद्दों पर आप रोचक विडियो भी देख सकते हैं। हमारे कुछ नियमित विडियो फीचर -सुनो जिंदगी, फेक इट इंडिया, फेक बोले कौआ काटे, मूवी रिव्यू, विचित्र किंतु सत्य- हमारे यूट्यूब चैनल पर भी देख सकते हैं।

Apart from the news, you can also watch interesting videos on many issues. Some of our regular video features - Sun Life, Fake It India, Fake Bole Kauwa Kate, Movie Review, Bizarre but Truth can also be seen on our YouTube

Subscribe to the 'Navbharat Times' channel here:


Download the Official NBT App:

Social Media Links
Facebook:
Twitter:

Shares

x

Check Also

x

Menu